जशपुर छत्तीसगढ़ के जशपुर में सोमवार दोपहर आकाशीय बिजली गिरने से दो भाइयों सहित 3 लोगों की मौत हो गई। जबकि महिला और उसका बेटा सहित 4 लोग गंभीर रूप से झुलस गए। यह सभी लोग खेत में काम करने के लिए गए थे। इसी दौरान बारिश और ओले गिरना शुरू हो गए। बचने के लिए सभी मचान के नीचे खड़े हो गए थे। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजवा दिया है। मामला सन्ना थाना क्षेत्र का है।

हादसे के बाद मौजूद ग्रामीण और रोते-बिलखते परिजन।

जानकारी के मुताबिक, डूमरकोना गांव में मिर्ची बुआई का काम चल रहा था। इसमें गांव के ही सगे भाई रुपेंद्र (21) और दीपक (17), नंदलाल (18), मुकेश उसकी मां सविता, अभिषेक और मरंगीपाठ गांव का एक युवक काम कर रहे थे। दोपहर करीब 2 बजे अचानक मौसम बदल गया। बारिश के साथ ओले गिरने लगे। इससे बचने के लिए सभी लोग पुआल के बने मचान के नीचे जाकर खड़े हो गए। इसी दौरान मचान पर ही आकाशीय बिजली गिर पड़ी।

गांव में मिर्ची बुआई का काम चल रहा था।

इसमें गांव के ही सगे भाई रुपेंद्र (21) व दीपक (17), नंदलाल (18), मुकेश उसकी मां सविता, अभिषेक और मरंगीपाठ गांव का एक युवक काम कर रहे थे।
गांव में मिर्ची बुआई का काम चल रहा था। इसमें गांव के ही सगे भाई रुपेंद्र (21) व दीपक (17), नंदलाल (18), मुकेश उसकी मां सविता, अभिषेक और मरंगीपाठ गांव का एक युवक काम कर रहे थे।
 

मां-बेटे की हालत नाजुक, सभी को दी जाएगी सहायता राशि

हादसे में रुपेंद्र (21), दीपक (17) और नंदलाल (18) की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि मुकेश, सविता, अभिषेक और एक अन्य युवक गंभीर रूप से झुलस गए। थोड़ी देर बाद मौसम शांत हुआ तो ग्रामीण मौके पर पहुंचे। घायलों को उपचार के लिए सन्ना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया है। वहां मां-बेट सविता और मुकेश की हालत नाजुक बनी हुई है। वहीं कलेक्टर महादेव कावरे ने संवेदना व्यक्त करते हुए सहायता राशि देने के निर्देश दिए हैं।