इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में रविवार को खेले गए मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स ने पंजाब किंग्स को 7 विकेट से हरा दिया। दिल्ली में खेले गए मुकाबले में कप्तान ऋषभ पंत की टीम शुरू से ही हावी रही। पंजाब के कप्तान मयंक को छोड़कर टीम का कोई भी बल्लेबाज दिल्ली के बॉलर्स के आगे टिक नहीं सका। इसके बाद शिखर धवन और पृथ्वी शॉ की ताबड़तोड़ शुरुआत ने दिल्ली की जीत सुनिश्चित कर दी। आइए जानते हैं वो 5 पॉइंट जिसकी वजह से दिल्ली ने पंजाब के खिलाफ जीत दर्ज की।

1. मयंक को छोड़कर कोई बल्लेबाज नहीं चला
पंजाब किंग्स ने 6 विकेट गंवाकर 166 रन बनाए। बीमार लोकेश राहुल की जगह मयंक अग्रवाल टीम की कप्तानी कर रहे। उन्होंने बतौर कप्तान अपने पहले ही मैच में फिफ्टी लगाई। मयंक ने 58 बॉल पर सबसे ज्यादा 99 रन की नाबाद पारी खेली। यह लीग में उनकी ओवरऑल 9वीं फिफ्टी रही। उनके अलावा डेब्यू मैच खेल रहे डेविड मलान ने 26 रन बनाए। इसके अलावा कोई भी बल्लेबाज मयंक का साथ नहीं दे सका।

2. राहुल की गैर-मौजूदगी खली
फॉर्म में चल रहे पंजाब के कप्तान लोकेश राहुल बीमार होने से पहले इस मैच में हिस्सा नहीं ले सके। इससे पूरा दबाव मयंक अग्रवाल पर आ गया। मयंक ने जिम्मेदारी के साथ बल्लेबाजी की, लेकिन दूसरे एंड से विकेट गिरते रहे। ऐसे में टीम को राहुल की कमी खली।

3. धवन-शॉ ने शानदार शुरुआत दिलाई
167 रन के टारगेट का पीछा करते हुए दिल्ली की शुरुआत अच्छी रही। टीम ने पावरप्ले में बिना विकेट गंवाए 63 रन बनाए। 7वें ओवर की पहली बॉल पर टीम को पहला झटका लगा। हरप्रीत बरार ने पृथ्वी शॉ को 39 रन पर क्लीन बोल्ड किया। ओपनर धवन ने एक छोर संभाले रखा और अंत तक नाबाद रहे।

4. स्मिथ-पंत-हेटमायर की छोटी, लेकिन अहम पारियां
111 के स्कोर पर दिल्ली टीम को दूसरा झटका लगा। राइली मेरेडिथ ने स्टीव स्मिथ को 24 रन पर पवेलियन भेजा। इसके बाद ऋषभ पंत भी 14 रन ही बना सके। आखिर में धवन और शिमरॉन हेटमायर ने नाबाद रहते मैच जिताया। हेटमायर ने बॉल पर 16 रन बनाए, जिसमें 2 छक्के और 1 चौका शामिल है।

5. बिश्नाई-शमी महंगे साबित हुए
पंजाब की हार की एक वजह रही- उसके प्रमुख बॉलर्स मोहम्मद शमी और रवि बिश्नोई की विकेटलेस परफॉर्मेंस। शमी ने 3 ओवर में 37 रन लुटाए, जबकि बिश्नोई ने 4 ओवर में 42 रन दिए। इस दौरान दोनों एक भी विकेट नहीं ले सके।