अभिनेत्री राधिका को बॉलीवुड में टाइपकास्ट होना नापसंद है। उन्होंने फिल्मों के साथ-साथ अन्य विभिन्न माध्यमों में कई बेहतरीन किरदारों को निभाया है, लेकिन नेटफ्लिक्स के 'घोल', 'सेक्रेड गेम्स' और 'लस्ट स्टोरीज' में निभाए गए उनके किरदारों ने उन्हें क्वीन ऑफ द ओटीटी (ओवर द टॉप) प्लेटफॉर्म्स के रूप में प्रतिष्ठित किया है।
इस अदाकारा ने कहा , "विभिन्न माध्यमों में अभिनय से ज्यादा कुछ बदलाव नहीं आता है, जो वाकई में बदलता है वह है दर्शक, दुनिया भर के लोग इस तरह के कार्यक्रमों को देखते हैं। डिजिटल मीडियम बहुत तेज है। यह फिल्मों की अपेक्षा बेहद तेज है क्योंकि इसकी विषय सामग्री हमेशा लोगों के हाथों में ही रहती है और इससे वाकई में बदलाव आता है।"
राधिका स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म्स को रोजगार पैदा करने का श्रेय देती हैं।
राधिका ने कहा, "कुछ कलाकारों को बेहतरीन किरदार मिले। सभी ओटीटी प्लेटफॉर्म्स केवल बड़े प्रोडक्शन्स पर ही काम करते दिख रहे हैं। उम्मीद करती हूं कि बॉलीवुड से विषय सामग्रियों को यहां स्थानांतरित नहीं किया जा रहा है। एक-दो साल इंतजार करते हैं, इसकी निरंतरता को केवल समय के साथ ही परखा जा सकता है। फिलहाल के लिए, यह प्लेटफॉर्म बेहद अच्छा है और इसमें कोई संदेह नहीं है। इसमें बजट, प्रोडक्शन और सिस्टम, काम को करने की नैतिकता सभी बहुत अच्छा है।"
वीडियो स्ट्रीमिंग सर्विसेज भारत में मनोरंजन के बाजार का एक बड़ा हिस्सा घेरे हुए हैं, लेकिन राधिका का मानना है कि फिल्मों से आगे निकलने में इन्हें अभी थोड़ा और वक्त लगेगा। भारत में नेटफ्लिक्स के आ जाने से बॉक्स ऑफिस की सफलता या फिल्मों की कमाई में अब तक कोई फर्क नहीं पड़ा है।