नई दिल्ली । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने की मांग की कई। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के 6 लाख बच्चे सीबीएसई की परीक्षा में बैठेंगे,एक लाख के करीब अध्यापक इसमें शामिल होंगे, इससे बड़े स्तर पर कोरोना फैल सकता है। उन्होंने कहा कि कुछ और तरीका निकाला जाए या इंटरनल असेसमेंट के आधार पर बच्चों को पास किया जाए लेकिन सीबीएसई के एग्जाम कैंसिल करने बहुत जरूरी हैं। 
केजरीवाल ने कहा कि कई देशों ने अपने एग्जाम कैंसिल कर दिए हैं कई राज्य सरकारों ने अपने बोर्ड के एग्जाम कैंसिल कर दिए हैं इसलिए सीबीएसई के एग्जाम भी कैंसिल किए जाएं।
इससे पहले दिल्ली में कोरोना के बिगड़ते हालातों के बीच मंगलवार को डिजिटल प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने मौजूदा हालात पर चिंता जताते हुए कहा कि इस बार की कोरोना लहर बहुत ज्यादा खतरनाक है। इस लहर में युवा और बच्चे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। इस बार 65 प्रतिशत मरीज 45 साल से कम उम्र के है। सीएम ने अपील की है कि जब भी घर से बाहर निकलें कोविड दिशानिर्देशों का पालन जरूर करें।उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पतालों में 24 घंटों कोरोना के टीके लगाए जा रहे हैं, इसलिए अगर आप 45 साल से ऊपर हैं तो इसका टीका जरूर लगवाएं।
दिल्ली में कोरोना के खिलाफ सरकार की तैयारियों की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया " ताजा स्थिति को देखते हुए हमने अस्पतालों के साथ बैंक्वेट हॉल को अटैच किया है। जो कम सीरियस मरीज होंगे उनको बैंकट हॉल में शिफ्ट कर देंगे और हॉस्पिटल में बहुत सीरियस मरीज का इलाज करेंगे। उन्होंने बताया कि कुछ अस्पतालों को 100% कोविड घोषित किया है। एक-एक मरीज़ को देख कर यह चेक कर रहे हैं कि अगर वह मरीज घर में ट्रीट हो सकता है तो मरीज से निवेदन किया जा रहा है कि अस्पताल का बेड खाली कर दीजिए।" उन्होंने कहा कि घर पर भेज कर हम अपना पल्ला नहीं झाड़ रहे बल्कि आपके घर पर लगातार मॉनिटरिंग होगी और डॉक्टर लगातार फोन करेंगे, आपको घर भेजते समय पल्स ऑक्सीमीटर देकर भेजेंगे और जरा सी भी दिक्कत हुई तो अस्पताल शिफ्ट कर देंगे। 
मुख्यमंत्री ने दिल्ली वासिय़ों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में प्लाज्मा डोनेशन की मांग करते हुए कहा कि दिल्ली के सभी लोगों से अपील पिछली बार जब संक्रमण बहुत फैला था तब आपने बढ़-चढ़कर प्लाज्मा डोनेट किया था, लेकिन जैसे संक्रमण काम हुआ तो लोगों ने प्लाज्मा डोनेट करना बहुत कम कर दिया, अब प्लाज्मा बहुत कम है और डिमांड बहुत ज्यादा आ रही है, लोगों से अपील है जो लोग कोरोना संक्रमण से ठीक हो गए हैं वह प्लाज्मा डोनेट जरूर करें।