प्रधानमंत्री इमरान खान लगातार पाकिस्तान में सुशासन का दावा करते हैं। हालांकि उनके इस दावे की बुधवार को हवा निकल गई। एक लीक हुए सरकारी दस्तावेज से पता चला है कि इमरान सरकार पाकिस्तान की जनता के लिए कोरोना वायरस के टीके खरीदने की जगह, वीवीआईपी के लिए विमान खरीदने के लिए पैसा खर्च कर रही है।

पश्तून मीडिया के एक ट्विटर हैंडल के अनुसार, "पाकिस्तान ने अपनी गरीब आबादी के लिए टीके खरीदने के लिए एक पैसा नहीं दिया है लेकिन वीवीआईपी एयरक्राफ्ट खरीदने के लिए करीब 20 लाख अमेरिकी डॉलर खर्च कर रही है।"
वीवीआईपी विमानों के बारे में जानकारी साउथ एशिया प्रेस द्वारा साझा की गई थी। ट्वीट में कहा गया है, "@SouthAsiaPress के हाथ लगे एक गुप्त पाकिस्तानी सरकारी दस्तावेज से पता चलता है कि कैबिनेट डिवीजन VVIP विमान पर अतिरिक्त 0.3 बिलियन रुपये (करीब 20 लाख अमेरिकी डॉलर) खर्च करने के लिए कल एक स्वीकृति देगा। इस विमान का उपयोग पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और राष्ट्रपति के द्वारा किया जाएगा।"

आपको बता दें कि सरकारी दस्तावेज पर 6 अप्रैल 2021 की तारिख दर्ज है। इसमें कहा गया है कि मंत्रिमंडल की आर्थिक समन्वय समिति (ECC) की बैठक बुधवार 7 अप्रैल, 2021 को होगी। इस पत्र के अनुसार, वित्त और राजस्व मंत्री बैठक की अध्यक्षता करेंगे। 

आपको बता दें कि पाकिस्तान में कोरोनो वायरस के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। वहीं, टीकाकरण के लिए लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। पिछले 24 घंटों की बात करें तो पाकिस्तान में 3,953 नए मामले सामने आए। देश में COVID-19 मामलों की कुल संख्या 6,96,184 हो गई है।

रमजान से पहले COVID-19 के प्रसार पर बढ़ती चिंताओं के बीच, पाकिस्तान ने पिछले रविवार को 3,568 कोरोना वायरस रोगियों की रिपोर्ट की थी। महामारी शुरू होने के बाद से यह सबसे अधिक संख्या है।