नई दिल्ली |  देश की राजधानी दिल्ली में लॉकडाउन फिर लौट आया है। कोरोना संक्रमण की तेज रफ्तार को देखते हुए दिल्ली में आज से 6 दिनों का लॉकडाउन लग गया है। लॉकडाउन लगने के साथ ही दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने भी पूरी तरह से कमर कस ली है। डीएमआरसी ने लॉकडाउन के पहले दिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होने पर 10 मेट्रो स्टेशन की एंट्री पर रोक लगा दी है। डीएमआरसी ने मंगलवार सुबह ट्वीट कर जानकारी दी कि श्याम पार्क, राज बाग, मोहन नगर, राजीव चौक, एमजी रोड, नई दिल्ली, चांदनी चौक, कश्मीरी गेट, बहादुरगढ़ सिटी और ब्रिगेडियर होशियार सिंह मेट्रो स्टेशन पर यात्रियों की एंट्री पर रोक लगा दी है। हालांकि इन मेट्रो स्टेशन से एग्जिट पर कोई रोक नहीं है। दिल्ली मेट्रो के अधिकारियों की मानें तो शारीरिक दूरी का पालन नहीं होने के चलते इन मेट्रो स्टेशनों पर यात्रियों की एंट्री बंद कर दी गई, लेकिन हालात सामान्य होने पर एंट्री खोल दी गई।  इससे पहले दिल्ली में लॉकडाउन की घोषणा के बाद मेट्रो ने अपने परिचालन में थोड़ा बदलाव किया है। लॉकडाउन के दौरान व्यस्त समय को छोड़कर दिल्ली मेट्रो एक-एक घंटे के अंतराल पर चलेगी। वहीं सुबह शाम 2-2 घंटे के व्यस्त समय में मेट्रो कोच के अंदर भीड़ न हो, इसके लिए 30-30 मिनट के अंतराल पर मेट्रो चलाई जाएगी। मेट्रो ने कहा कि परिचालन के समय में कोई बदलाव नहीं किया गया है। यह सुबह 6 बजे से रात के अपने पुराने समय के अनुसार 11 बजे तक चलेगी। मगर मेट्रो ट्रेन की फ्रीक्वेसी कम की जाएगी। सुबह 8 से 10 बजे और शाम को 5 से 7 बजे के बीच आधे-आधे घंटे पर मेट्रो चलेगी। मेट्रो ने यात्रियों से अपील की है कि यात्रा का समय बढ़ सकता है। ऐसे में वे अधिक समय लेकर सफर करेंगे। आम दिनों में जहां मेट्रो 5000 से अधिक फेरे लगाती है, वह घटकर 1500 से भी कम हो जाएगी।

कर्फ्यू पास तो यात्रा की अनुमति
मेट्रो ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान भी सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को ही यात्रा की अनुमति दी जाएगी। यह सरकार की ओर जारी आदेश के मुताबिक होगा। अगर किसी के पास कर्फ्यू पास होगा या लॉकडाउन पास होगा तो उसे भी यात्रा की अनुमति दी जाएगी। मेट्रो अपनी क्षमता से 50 फीसदी यात्रियों को लेकर चलेगी।