इंदौर. इंदौर के शहर के चार क्षेत्रों राजेंद्र नगर, अन्नपूर्णा, लसूड़िया थाना और पलासिया थाना क्षेत्रों में रोज 50 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं. इन इलाकों की हालत सबसे खराब है. इसके मद्देनजर हर थाना क्षेत्र में एक-एक डॉक्टर को तैनात किया गया है, जो पॉजिटिव आने वाले लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और सैंपलिंग का काम कर रहा है. इंदौर में शुक्रवार को कोरोना से संक्रमित  619 नए मरीज मिले. यहां पॉजिटिव रेट 17% हो गया है और दो की मौत भी हुई है. एक्टिव मरीजों की संख्या 2834 हो गई है.

गौरतलब है कि बीते 15 दिन से लगातार मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. लेकिन, स्वास्थ्य विभाग के पास मैन पावर की कमी के चलते रोज महज 35 लोगों की ही कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग मुश्किल से हो पा रही है. वैकल्पिक रूप से ऐसे इलाके, जहां कम मरीज आ रहे हैं, वहां के स्टाफ को इन इलाकों में भेजने पर विचार किया जा रहा है.

संभागायुक्त ने की मरीजों से बात

इधर, संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा कोविड संक्रमित मरीजों को मिल रही चिकित्सा सुविधाओं और खाने की व्यवस्थाओं का जायजा लेने सुपर स्पेशिएलिटी उन्होंने मरीजों से दवा की उपलब्धता, भोजन व अन्य सुविधाओं के बारे में जानकारी ली. यहां करीब 200 मरीज भर्ती हैं. हालांकि मरीजों ने किसी प्रकार की कोई शिकायत नहीं की. डॉक्टरों ने संभागायुक्त डॉ. शर्मा को बताया कि मरीजों का मनोबल बढ़ाने के लिए उनकी बात परिजनों से लगातार कराई जा रही है.


गौरतलब है कि मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए हफ्तेभर पहले ही सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल को कोविड संक्रमित मरीजों के लिए शुरू किया गया. एमजीएम मेडिकल कॉलेज का मैन पावर तीन अन्य अस्पतालों में भी बंट गया है. इसलिए अब कॉलेज प्रशासन इस बात पर विचार कर रहा है कि एमटीएच अस्पताल व एमआर टीबी अस्पताल से कुछ यूनिट्स की ड्यूटी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल में लगाई जाएगी.