Tuesday, 18 December 2018, 3:57 PM

धर्म कर्म

शाही स्नान को लेकर अखाड़ा परिषद के धड़ों में तनातनी

Updated on 5 May, 2015, 12:24
हरिद्वार। अर्धकुंभ में शाही स्नान को लेकर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद और नई अखाड़ा परिषद आमने-सामने आ गईं। महंत ज्ञानदास की अगुआई वाली अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अर्धकुंभ में शाही स्नान के पक्ष में नहीं है, जबकि महंत नरेंद्र गिरि के नेतृत्व वाली नई अखाड़ा परिषद का कहना है कि... आगे पढ़े

लाटू देवता मंदिर के कपाट खुले, फिर बंद

Updated on 5 May, 2015, 12:22
देवाल। वांण स्थित लाटू देवता मंदिर के कपाट रविवार को विधि विधान से पूजा-अर्चना के साथ एक दिन के लिए खोले गए। कपाट खुलने के अवसर पर पहली बार देवाल पहुंचे मुख्यमंत्री ने भी मंदिर में एक घंटे तक पूजा की। इस दौरान आयोजित एक दिवसीय बोरी मेले में लोगों... आगे पढ़े

हज यात्राः अब 9 मई तक जमा कर सकते हैं पहली राशि

Updated on 3 May, 2015, 13:06
भोपाल। हज 2015 पर जाने वाले यात्री पहली राशि के रूप में जमा की जाने वाली राशि 81 हजार रुपए अब 9 मई तक जमा कर सकेंगे। सेंट्रल हज कमेटी ने पहली राशि जमा करने की अंतिम तिथि 30 अप्रैल तय की थी, जिसे बढ़ाकर 9 मई कर दिया गया... आगे पढ़े

विश्वनाथ मंदिर न्यास के अध्यक्ष हटाए गए

Updated on 3 May, 2015, 13:04
गाजीपुर। वाराणसी स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर न्यास परिषद के अध्यक्ष आचार्य अशोक द्विवेदी का बड़बोलापन उन पर भारी पड़ गया। आनलाइन पूजा के बाबत दिए गए बयान पर धर्मार्थ कार्य राज्यमंत्री विजय मिश्रा ने शुक्रवार को उन्हें पद से हटा दिया। अब अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी विभागीय सचिव संभालेंगे। गौरतलब है... आगे पढ़े

टूट गया नेपाल से बनारसी तुलसी का रिश्ता

Updated on 3 May, 2015, 13:03
वाराणसी। पड़ोसी देश नेपाल में भूकंप त्रासदी की वजह से पूजन पत्र के रूप में प्रचलित और पूजित बनारसी तुलसी का रिश्ता से फिलहाल वहां से टूट गया है। श्रद्धालुओं की मान्यता औेर आस्था के अनुसार भगवान श्री हरि विष्णु औेर उनके अवतारों राम-कृष्ण के साथ ही प्रभु हनुमान को... आगे पढ़े

चौथे दिन भी नहीं खुला बदरीनाथ मार्ग, चार हजार तीर्थयात्री फंसे

Updated on 1 May, 2015, 12:35
देहरादून। मौसम की दुश्वारियां कम होने का नाम नहीं ले रहीं। खासकर चारधाम यात्रा के मामले में। भूस्खलन के कारण हाथीपहाड़ के पास अवरुद्ध हुआ बदरीनाथ राजमार्ग मंगलवार के बाद से अब तक नहीं खुल पाया है। लगातार भूस्खलन से मलबा हटाने में दिक्कतें आ रही हैं। मंगलवार दोपहर बारिश के... आगे पढ़े

सुरंग पर मथुरा, अगर ऐसा हुआ तो....

Updated on 1 May, 2015, 8:34
वृंदावन। गोवर्धन गिरिधारी की शरण में पहुंचकर कभी इंद्र के क्रोध को मात देने वाले ब्रज को एक नया डर है। अब यह आसमानी नहीं जमीनी है। भूमि के गर्भ में हलचल हुई तो पैरों तले से जमीन सरक जाएगी। वजह है कि पूरा पुराना मथुरा शहर सुरंग के ऊपर... आगे पढ़े

अद्भूत, दंडवत करते पहुंचेंगे अमरनाथ

Updated on 30 April, 2015, 13:51
सांबा। नेपाल निवासी 55 वर्षीय रामत्रित यादव अपने बेटे के साथ दंडवत कर श्री अमरनाथ यात्रा पर निकले। रामत्रित यादव गांव रामध्यैया भबाड़ी जिला धनुसा, नेपाल अपने बेटे संजय कुमार यादव के साथ 27 अक्तूबर 2014 को दंडवत कर तीर्थ यात्रा पर निकले थे। छह महीने से यात्रा पर निकले... आगे पढ़े

फिट होंगे, तो ही कर पाएंगे तीर्थ

Updated on 30 April, 2015, 13:49
देहरादून। 'मेरे बुजुर्ग, मेरे तीर्थ' योजना के तहत व्यक्ति तभी यात्रा पर जा सकेगा, जब वह फिट होगा। बुजुर्गों को पहले मेडिकल सर्टिफिकेट देना होगा, इसके बाद ही वे तीर्थ पर जा पाएंगे। 165 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गो को नि:शुल्क तीर्थयात्रा कराने के लिए सरकार ने 'मेरे बुजुर्ग,... आगे पढ़े

हरोली उत्सव शुरू

Updated on 29 April, 2015, 14:39
हरोली (ऊना)। मंगलवार को भव्य शोभायात्रा, ढोल नगाड़ों की थाप और जन उल्लास के साथ हरोली उत्सव का आगाज हो गया। चारों ओर पीली चुनरी लिए महिलाएं और संतरी और गुलाबी रंग की पगडिय़ों एक किलोमीटर दूर तक नजर आ रही थी। करीब तीन किलोमीटर तक शोभायात्रा में कई हजार... आगे पढ़े

कैसे बनता मंगल दोष: क्या करें निवारण जब कुंडली में हो मंगल दोष

Updated on 28 April, 2015, 12:56
जिस जातक की जन्म कुंडली, लग्न/चंद्र कुंडली आदि में मंगल ग्रह, लग्न से लग्न में (प्रथम), चतुर्थ, सप्तम, अष्टम तथा द्वादश भावों में से कहीं भी स्थित हो, तो उसे मांगलिक कहते हैं। जिस जातक की जन्म कुंडली में 1, 4, 7, 8, 12वें भाव में कहीं पर भी मंगल... आगे पढ़े

इस अंग में विराजते हैं भगवान

Updated on 28 April, 2015, 9:18
निराकार ईश्वर जिसे हमें भगवान, अल्लाह, जीजस और न जानें कितने नामों से जानते हैं। हम रोज ईश्वर के दर पर अपनी परेशानियों को लेकर जाते हैं और बदले में शांति और एक उम्मीद लेकर वापस आते हैं। लेकिन यही ईश्वर हमारे ह्दय और मन में वास करता है। यानी हर... आगे पढ़े

कुछ ऐसे करें मां बगलामुखी की आराधना होगा लाभ

Updated on 26 April, 2015, 11:41
मां बगला मुखी जयंती के दिन साधक को माता बगलामुखी की निमित्त व्रत एवं उपवास करना चाहिए तथा देवी का पूजन करना चाहिए। इन्हें पीला रंग अति प्रिय है इसलिए इनके पूजन में पीले रंग की सामग्री का उपयोग सबसे ज्यादा होता है। साधक को माता बगलामुखी की आराधना करते समय... आगे पढ़े

वैदिक मंत्रोच्चार के बीच खुले बदरीनाथ के कपाट, दर्शन को उमड़े श्रद्धालु

Updated on 26 April, 2015, 9:42
नई दिल्ली। श्रद्धालु आज से बदरीनाथ धाम के दर्शन कर सकेंगे। आज सुबह तड़के 5.15 बजे वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच मंदिर के कपाट खोल दिये गए। कपाट खोलने के वक्त वहां उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत मौजूद थे। मुख्यमंत्री के अलावा विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल, पर्यटन मंत्री दिनेश धनै,... आगे पढ़े

यहां साक्षात् कालिका विश्राम करती है, इसलिए इतनी अद्भूत बातें यहां होती

Updated on 25 April, 2015, 14:11
ताते हैं यहां श्रद्वा एवं विनयता से की गयी पूजा का विशेष महात्म्य है। इसलिये वर्ष भर यहां बड़ी संख्या में श्रद्वालु पहुंचते हैं तथा बड़े ही भक्ति भाव से बताते हैं कि किस प्रकार माता महाकालिका ने उनकी मनौती पूर्ण की देशी विदेशी पर्यटक इस क्षेत्र में आकर मां... आगे पढ़े

केदारनाथ धाम के कपाट खुले, राहुल ने की पूजा

Updated on 24 April, 2015, 12:04
देहरादून। हजारों श्रद्धालुओं के उत्साह और बाबा केदारनाथ के जयकारों के बीच वैदिक मंत्रोच्चार के साथ ग्यारहवें ज्योतिर्लिंग केदारनाथ धाम के कपाट खोल दिए गए। इस मौके पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री हरीश रावत और उत्तराखंड के राज्यपाल केके पॉल सहित रावत कैबिनेट के सहयोगी और गायक... आगे पढ़े

पृथ्वी देवों से नहीं दानवों से हुई है उत्पन्न

Updated on 24 April, 2015, 8:47
हिंदू पौराणिक कथा के अनुसार भगवान विष्णु ने देवर्षि नारद जी को बताया कि यह पृथ्वी मधु और कैटभ के मेद से उत्पन्न हुई हैं। यानी जब वह दैत्य पृथ्वी पर थे उस समय पृथ्वी स्पष्ट दिखाई नहीं देती थी। जब मां दुर्गा ने उनका संहार किया, तब उनके शरीर से... आगे पढ़े

इसीलिए चले गए देवता पृथ्वी को छोड़कर

Updated on 22 April, 2015, 12:26
हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार महाभारत काल तक सभी देवी- देवता पृथ्वी पर निवास करते थे। महाभारत के बाद सभी अपने-अपने धाम चले गए। कलयुग के प्रारंभ होने पर देवता विग्रह रूप ( अदृश्य) में ही रह गए अत: उनके विग्रहों की पूजा की जाती है। दैत्य दानव के प्रिय भगवान देवताओं... आगे पढ़े

त्रेता का सफर कलयुग में खत्म

Updated on 22 April, 2015, 12:24
रामबाड़ा। क्या कुदरत इतनी बेरहम हो सकती है? केदारनाथ यात्रा के प्रमुख पड़ाव रामबाड़ा को देखकर आंखें यकीन करने को तैयार नहीं। दो पहाडिय़ों के बीच एक गहरी खाई। दो साल पहले यहीं पर कहीं थे काली कमली धर्मशाला, गढ़वाल मंडल विकास निगम का अतिथि गृह, होटल, लॉज और दो-ढाई... आगे पढ़े

गोमुख से भगीरथी नदी का उद्गम है गंगोत्री

Updated on 21 April, 2015, 14:37
 केदारखण्ड के चारों धामों में यमुनोत्री के बाद गंगोत्री की यात्रा करने का विधान है। परम पावनी गंगा का स्वर्ग से अवतरण इसी पुण्य भूमि पर हुआ था। सर्वप्रथम गंगा का अवतरण होने के कारण यह स्थान गंगोत्री कहलाया। यह स्थान हरिद्वार से 282 कि.मी. की ओर ऋषिकेष से 257... आगे पढ़े

ऊँ नम शिवाय

Updated on 18 April, 2015, 13:16
ऊँ नम शिवाय, वह मूल मंत्र है जो हमारे शरीर का शुद्धीकरण करता है और साथ ही आपमें ध्यान की अवस्था लाने में मदद करता है। यह वह मूल मंत्र है, जिसे कई सभ्यताओं में महामंत्र माना गया है। जाने इस मंत्र का महात्म्य सद्गुरु- पूरी जागरूकता के साथ किसी मंत्र... आगे पढ़े

सुनहरे श्रृंगार में होंगे बांकेबिहारी

Updated on 17 April, 2015, 13:26
वृंदावन। अक्षय तृतीया पर 21 अप्रैल को सुनहरा श्रृंगार होगा। पीतांबर धारण करेंगे और चंदन की सुगंध बिखेरेंगे ठा.बांकेबिहारी। स्वामी हरिदासजी द्वारा शुरू की गई परंपरा के अनुसार अक्षय तृतीया पर साल में एक बार होने वाले भक्तों को सर्वांग (चरण) दर्शन भी देंगे बांकेबिहारीे। चरणों में चंदन का लड्डू... आगे पढ़े

गंगोत्री-यमुनोत्री में होटल मई तक पैक

Updated on 17 April, 2015, 13:23
उत्तरकाशी। 21 अप्रैल से शुरू होने वाली चारधाम यात्रा के दौरान आने वाले यात्रियों ने गंगोत्री- यमुनोत्री में मई तक के लिए जीएमवएन के अधिकांश होटल बुक कर दिए हैं। गंगोत्री और यमुनोत्री यात्रा रूट पर गढ़वाल मंडल विकास निगम के 17 गेस्ट हाउस है। जीएमवीएन को ज्यादातर गेस्ट हाउस दो... आगे पढ़े

चारधाम यात्रा बनी प्रशासन के लिए चुनौती

Updated on 16 April, 2015, 13:14
गोपेश्वर। यात्रा व्यवस्थाओं में हो रही देरी अब प्रशासन के लिए भी चुनौती बन गई है। जिलाधिकारी ने अवकाश के बाद भी यात्रा तैयारियों में लगे अधिकारियों की बैठक लेकर कार्यो की समीक्षा कर रणनीति बदलते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं। उन्होंने जोर दिया कि यात्रा से पहले सभी व्यवस्था... आगे पढ़े

केदारनाथ डायरी: बादलों से झांकता आशा का सूरज

Updated on 16 April, 2015, 13:12
रुद्रप्रयाग। केदारनाथ यात्रा में अब महज दस दिन शेष हैं। धाम में तैयारियां युद्धस्तर पर जारी हैं तो यात्रा मार्ग पर भी लोग दुकानों को सजाने संवारने में जुटे हैं। बैसाख के आसमान में बादलों से चल रही लुकाछिपी के बीच आशा का सूरज संदेश दे रहा है कि आस्था... आगे पढ़े

केदारनाथ यात्रा मार्ग पर श्रद्धालुओं को परोसेगा उत्तराखंडी व्यंजन

Updated on 15 April, 2015, 17:03
देहरादून। केदारनाथ यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं को इस बार गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) लजीज पहाड़ी व्यंजनों का स्वाद भी चखाएगा। श्रद्धालुओं को भोजन में दाल, चावल, सब्जी के साथ स्वास्थ्यवर्धक मंडुए की रोटी और झंगोरे की खीर भी परोसी जाएगी। इसके लिए निगम स्थानीय युवाओं की मदद लेगा। इससे... आगे पढ़े

कलयुग में विवाह धर्म नहीं

Updated on 15 April, 2015, 12:08
पुराणों में कलियुग के संदर्भ में कई रोचक जानकारियां मिलती है। दिलचस्प बात यह है कि इस युग में विवाह को धर्म नहीं माना गया है। शिष्य अपने गुरु के अधीन नहीं रहेंगे। पुत्र अपने कर्तव्य और धर्म से दूर रहेंगे। कलियुग में दान देना सबसे बड़ा धर्म बताया गया है।... आगे पढ़े

बन तितली उड़दी फिरां किशोरी तेरे बरसाने में..

Updated on 14 April, 2015, 12:05
बरसाना। लाड़ली मंदिर में चंडीगढ़ के राधारानी फूल बंगला सेवा संस्था ने मेवा का बंगला सजाकर श्रद्धालुओं का आकर्षण चुरा लिया। शनिवार की सायं हुए इस भव्य कार्यक्रम में दर्शन करने वाले राधा रानी की एक झलक पाने को मचल गए और देर रात तक भजनों का दौर चलता रहा। बीते... आगे पढ़े

बदरीनाथ धाम में बर्फ साफ करना बना चुनौती

Updated on 14 April, 2015, 12:04
गोपेश्वर (चमोली)। बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने में दो सप्ताह ही शेष हैं और चुनौतियों का पहाड़ सामने खड़ा है। धाम के कपाट 26 अप्रैल को खोले जाने हैं। प्रशासन के लिए सबसे बड़ी मुश्किल बदरीनाथ में जमा बर्फ के ढेर साफ करना है। यहां चारों ओर बर्फ ही बर्फ... आगे पढ़े

खत्म हुआ खरमास, मुहूर्तो का घनघोर लग्न, 1948 के बाद ऐसा योग

Updated on 14 April, 2015, 11:37
वाराणसी। शादी विवाह की चिंताओं को लेकर परेशान लोग इस बार लग्न तिथियों की उपलब्धता को लेकर मगन हैं। आज 14 अप्रैल को खरमास खत्म हो रहा है और 15 से बरात का मानसून छा जाएगा। अप्रैल के दूसरे पखवारे से मई के दूसरे पखवारे तक घनघोर लग्न और बरातें... आगे पढ़े