7 दिन के अंदर 55 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए, 80 हजार लोगों ने जान गंवाई; 10 देशों में कोरोना की चौथी लहर

यहां रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और एयरपोर्ट सब जगह यात्रियों का कोरोना टेस्ट हो रहा है। पिछले कुछ दिनों से तुर्की में काफी ज्यादा मामले सामने आए हैं।

दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। पिछले 7 दिन के अंदर दुनिया में 55 लाख 23 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित पाए गए। इस मामले में 12% का इजाफा देखने को मिला है। इस हफ्ते 80 हजार 323 मरीजों ने दम तोड़ दिया। मौत के मामले में 7% की बढ़ोतरी हुई है।

पिछले 24 घंटे का आंकड़ा देखें तो इस दौरान 8 लाख 25 हजार लोग संक्रमित मिले हैं। सबसे ज्यादा भारत में 2.94 लाख, ब्राजील में 73 हजार, तुर्की में 61 हजार और अमेरिका में 60 हजार लोग संक्रमित पाए गए। पूरी दुनिया में मंगलवार को 13 हजार 905 मरीजों की मौत हो गई।

10 देशों में कोरोना की चौथी लहर

भारत कोरोना की दूसरी लहर से परेशान है तो दुनिया के 10 ऐसे भी देश हैं, जहां संक्रमण की चौथी लहर चल रही है। इनमें ब्राजील, तुर्की, फ्रांस, अर्जेंटिना, ईरान, कोलंबिया, जमर्नी, इटली, पेरू और पोलैंड जैसे देश शामिल हैं। इन देशों में हर दिन 10 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो रहे हैं। सबसे खराब हालत ब्राजील और तुर्की की है।

ब्रिटेन में वैक्सीनेशन काफी तेज हो गया है। यहां अब तक 40% से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

ब्रिटेन में वैक्सीनेशन के बाद घटी मौतें

कोरोना की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान ने दुनिया में असर दिखाना शुरू कर दिया है। इसका ताजा उदाहरण ब्रिटेन में देखने को मिला है। 7 सितंबर को वहां 3 लोगों की मौत हुई थी, लेकिन मौतों का आंकड़ा धीरे-धीरे बढ़ता गया। पर टीकाकरण शुरू होने के बाद अब वहां महामारी से सिर्फ 4 मौतें दर्ज हुई हैं, इसके साथ ही कोरोना से मरने वालों की दर पिछले सोमवार के मुकाबले 70% घट गई है। इसके अलावा ब्रिटेन में नए कोरोना मरीजों की रफ्तार भी करीब 17% कम हुई है।

पिछले हफ्ते वहां 3568 मरीज मिले थे, लेकिन बीते 24 घंटों में 2963 केस मिले हैं। टीकाकरण से उत्साहित ब्रिटेन अब अपने नागरिकों के लिए इस साल बूस्टर डोज लगाने की तैयारी में है। बूस्टर डोज से कोरोना के किसी भी वेरियंट से लड़ने में मदद मिलेगी।

स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने बताया कि हमें किसी भी हाल में जून तक लॉकडाउन से पूरी तरह बाहर निकलना है, इसलिए जुलाई के अंत तक देश में सभी वयस्कों को टीके की पहली डोज लगा दी जाएगी। 50 साल से ऊपर के सभी लोगों को देश में टीके लगाए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि अब हम 17 मई तक किसी भी हाल में इंडोर और आउटडोर गतिविधियां शुरू करना चाहते हैं। इसके साथ ही इंटरनेशनल ट्रैवल भी खोलने की तैयारी में हैं।

इजरायल में मास्क की अनिवार्यता खत्म होने के बाद से लोगों में खुशी की लहर है।

इजराइल में 56% आबादी को लगा वैक्सीन

कोरोना वायरस के खिलाफ इजराइल ने बहुत बड़ी कामयाबी हासिल की है। देश की 56% आबादी को यहां वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी हैं। इसके बाद घर से बाहर मास्क लगाने का नियम भी वापस ले लिया गया है। देश के सभी स्कूल और कॉलेज अब फुल स्ट्रैन्थ के साथ पूरी तरह खोल दिए गए हैं। हालांकि, कोविड-19 के खिलाफ कुछ नियम अब भी जारी रखने का फैसला किया गया है। सोशल मीडिया पर इजराइली नागरिकों के कुछ वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिनमें वे मास्क हटाते नजर आ रहे हैं।

इजराइल ने वैक्सीन मिलने के बाद 100 दिन में 50% आबादी को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य तय किया था। अब तक 56% लोगों को दोनों डोज, जबकि 81% लोगों को पहला डोज लगाया जा चुका है। 16 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेशन ड्राइव में शामिल किया गया है। न्यूयॉर्क टाइम्स से बातचीत में 35 साल की एली ब्लीच ने कहा- मैं बेहद खुश हूं कि अब खुली हवा में सांस ले पा रही हूं। उन्होंने भी मास्क हटाने का वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया है।

ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड के बीच ट्रैवल बबल समझौता हो गया है। अब लोग बिना क्वारेंटाइन हुए आना-जाना कर सकेंगे। पाबंदियां हटने के बाद कई परिवार महीनों बाद अपनों से मिले।

US में 18 साल के ऊपर 13 करोड़ लोगों को लगा वैक्सीन

अमेरिका में आधे वयस्क को कोरोना वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग चुकी है। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के आंकड़ों के अनुसार देश में 18 साल से ऊपर के 13 करोड़ लोगों को एक टीका लग चुका है, जो व्यस्क आबादी का 50.4% है।

वहीं, 8.4 करोड़ लोगों को वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं। हालांकि अभी भी अमेरिका नए केस मिलने के मामले में टॉप पर है। अमेरिका में रोज करीब 80 हजार केस सामने आ रहे हैं। जबकि करीब 900 लोगों की रोज जान जा रही है। एक्सपर्ट इसके लिए कोरोना के नए वैरिएंट को जिम्मेदार मान रहे हैं।

भूटान में 16 दिन में 93% वयस्कों का टीकाकरण हुआ

\भूटान ने 27 मार्च के बाद से करीब 93% वयस्क आबादी को टीका लगा दिया है। देश की 8 लाख आबादी में से 62% को टीका लग चुका है। भूटान पहला देश था, जिसे भारत ने वैक्सीन उपहार में दी थी। वैक्सीनेशन तेजी से करने के लिए टीके हेलीकॉप्टरों से दुर्गम इलाकों में पहुंचाए गए। पहाड़ों और सघन बर्फ के बीच वॉलंटियर ऑक्सीजन सिलेंडर और टीके लगाने के लिए गांव-गांव पहुंचे। वॉलंटियर्स को एक जगह पहुंचने में करीब 14 घंटे लगते हैं।