नई दिल्ली  । भारतीय क्रिकेट टीम और चेन्नई सुपरकिंग्स के स्टार ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा अपनी गेंदबाजी और बल्लेबाजी के अलावा के फील्डिंग के लिए भी जाने जाते हैं। उनकी इस ऑलराउंड प्रतिभा को देखते हुए ही सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें ‘सर’ की उपाधि दी थी। यह ऑलराउंडर ने धोनी के विश्वास पर एक बार फिर खड़ा उतरा है। राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ आईपीएल 2021 के 12वें मैच में उन्होंने कमाल का प्रदर्शन किया। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम पर सोमवार (19 अप्रैल) को जडेजा ने बल्लेबाजी में 7 गेंद पर 8 रन बनाने के बाद गेंदाबाजी में 4 ओवर में 28 रन देकर 2 विकेट झटके। उन्होंने जोस बटलर और शिवम दुबे जैसे विस्फोटक बल्लेबाज को पवेलियन का रास्ता दिखाया। बटलर 49 रन बनाकर जडेजा की एक बेहतरीन गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए। वे गेंद को समझ ही नहीं पाए। इसके बाद मैच पलट गया। बल्लेबाजी और गेंदबाजी के बाद जडेजा ने फील्डिंग में 4 कैच लिए। उन्होंने मनन वोहरा, रियान पराग, क्रिस मॉरिस औ जयदेव उनादकट का कैच लिया। वे एक मैच में सबसे ज्यादा 4 कैच लेने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल हो गए हैं। जडेजा से पहले 6 खिलाड़ियों ने एक मैच में सबसे ज्यादा 4 कैच लिए थे। 2008 में मुंबई इंडियंस के कप्तान सचिन तेंदुलकर ने कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ 4 कैच लपके थे। उनके बाद डेविड वॉर्नर ने दिल्ली डेयरडेविल्स (अब दिल्ली कैपिटल्स) की ओर से खेलते हुए 2010 में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ इतने ही कैच लिए थे। जैक कालिस ने कोलकाता की ओर से 2011 में मुंबई के खिलाफ, राहुल तेवतिया ने 2019 में दिल्ली कैपिटल्स की ओर से मुंबई, डेविड मिलर ने किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) की ओर से 2019 में मुंबई और फाफ डुप्लेसिस ने चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए 2019 में कोलकाता के खिलाफ 4 कैच लिए थे।