इंदौर. इंदौर में कोरोना वायरस का खौफ बैठ गया है. कोरोना की रफ्तार और मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं. इस बीच चिंता की बात ये भी सामने आ रही है कि क्या इंदौर में कोरोना वायरस का नया वायरस एक्टिव हो गया है. वैक्सीन के दो डोज लेने के बाद भी लोग संक्रमित हो रहे हैं. हालांकि, प्रशासनिक अधिकारी का कहना है कि वैक्सीन लगने के बाद वायरस हम पर हावी नहीं होगा.जानकारी के मुताबिक, जिन 20 लोगों को वैक्सीन लगने के बाद भी संक्रमण हुआ है उनके सैंपल जांच के लिए दिल्ली की NCDB लैब भेजे जाएंगे. इसके बाद ही पता चलेगा कि वायरस का नया वैरिएंट एक्टिव है कि नहीं. गौरतलब है कि 22 फरवरी को शहर से 90 सैंपल दिल्ली भेजे गए थे. इनमें 6 मरीजों में UK का वैरिएंट मिला था.

पिछले सैंपल की रिपोर्ट अभी तक नहीं मिली
इसके बाद 14 मार्च को 103 सैंपल और फिर 90 सैंपल दिल्ली भेजे गए थे. हालांकि, इन सैंपलों की जांच रिपोर्ट अभी तक नहीं मिली है. डॉक्टर्स का कहना है कि लोग तेजी से संक्रमित हो रहे हैं, इसका मतलब वायरस का रूप बदल गया है, उसके वैरिएंट में बदलाव हो गया है. वैक्सीन के दो डोज देने के बाद भी लोग संक्रमित हो रहे हैं. उनका कहना है कि रिपोर्ट आने के बाद पता चल सकेगा कि इम्युनिटी बढ़ने के बाद भी संक्रमण क्यों हुआ है.

रिपोर्ट आने के बाद चलेगा सच्चाई का पता
महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज की लैब इंचार्ज अनिता मूथा का कहना है कि वैक्सीन के दो डोज लगने के बाद भी जिन 20 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनक सैंपल दिल्ली भेजेंगे. इस रिपोर्ट के आने के बाद ही हम कह सकेंगे कि ये वायरस का कौन सा वैरिएंट है.

जनता से अपील वैक्सीन लगवाएं
इंदौर के नोडल अधिकारी अमित मालाकार का कहना है कि जब हमें वैक्सीन लग जाएगी तो हम पर वायरस हावी नहीं होगा. मेरी आम जनता से अपील है कि वैक्सीन लगवाएं. कोई भी वायरस अगर वैरिएंट बदलता है तो वैक्सीन लगने के बाद यह हावी नहीं हो पाएगा. वैक्सीन लगने से अधिक संक्रमण नहीं फैलेगा.