भोपाल/इंदौर  मध्यप्रदेश में कोरोना को लेकर पत्रकारों पर सरकार बंट गई है। पत्रकार फ्रंट लाइन वर्कर हैं या कोरोना फैलाने वाले। इस पर बयानबाजी शुरू हो गई है। CM शिवराज सिंह चौहान ने अधिमान्य पत्रकारों को फ्रंट लाइन वर्कर घोषित किया जाएगा। इस पर मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि सभी पत्रकारों को फ्रंट लाइन वर्कर घोषित करने के लिए मुख्यमंत्री से बात करूंगा। वहीं, इंदौर के सांसद शंकर लालवानी ने इसके विपरीत जाकर कहा- इंदाैर में तेजी से फैल रहा कोरोना संक्रमण के लिए मीडियाकर्मी जिम्मेदार हैं।

सांसद शंकर लालवानी ने इंदौर के एमवाय अस्पताल में दौरे के दौरान मीडियाकर्मियों को दूर करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि तुम्हारे कारण ही कोरोना फैल रहा है। सांसद की इस टिप्पणी के बाद मीडियाकर्मियों में रोष है।

कांग्रेस नेता अरुण यादव ने सोशल मीडिया पर लिखा

इंदौर सांसद शंकर लालवानी का शर्मनाक बयान कि मीडियाकर्मी कोरोना फैला रहे हैं, जबकि हमारे मीडिया के साथी निस्वार्थ सेवा भाव से कवरेज कर रहे हैं, कांग्रेस पार्टी मीडियाकर्मियों को कोरोना वारियर का दर्जा देने की बात करती है । मोदी जी - शिवराज जी को मीडिया से माफी मांगना चाहिए।


सीएम ने फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने का फैसला किया

हमारे पत्रकार मित्र कोविड के खतरनाक काल में अपनी जान जोखिम में डाल कर अपने धर्म का निर्वाह कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में सभी अधिमान्यता प्राप्त पत्रकारों को हमने फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने का फैसला किया है।
शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री, मध्यप्रदेश


इंदौर में कोरोना : 1787 नए केस, 8 की मौत : शहर में रविवार को 10491 टेस्ट में से 1787 नए संक्रमित मिले। वहीं, 8651 निगेटिव रहे। 32 की रिपोर्ट रिपीट पॉजिटिव रही। बीते कुछ दिनों से यह आंकड़ा लगातार 1800 से ऊपर बना हुआ था। 8 लोगों की मौत भी हुई है। जिले में अब तक 11 लाख 95 हजार 774 टेस्ट में से अब 1 लाख 16 हजार 280 पॉजिटिव मिले हैं। इनमें से 1 लाख 4 हजार 298 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। जिले में अब 10819 मरीज एक्टिव हैं।

गोयल विहार, नेहरू नगर, चाणक्यपुरी सहित 19 इलाके माइक्रो कंटेनमेंट घोषित : कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए कलेक्टर मनीष सिंह ने शहर के 19 इलाकों को माइक्रो कंटेनमेंट एरिया घोषित किया है। इसके लिए सर्विलांस टीमें भी बना दी हैं। जिन्हें माइक्रो कंटेनमेंट एरिया बनाया है, उनमें नेहरू नगर, गोयल विहार, आलोक नगर, चौहान नगर, पिंक सिटी, दुर्गानगर, सिल्वर स्प्रिंग, छत्रपति नगर, रेवेन्यू नगर, चाणक्यपुरी, गुमाश्ता नगर, स्कीम नंबर 71, राजेंद्र नगर, विनायक अपार्टमेंट, सिलिकॉन सिटी, सूर्यदेव नगर, शांतिनाथपुरी, ऋषिपैलेस कॉलोनी और प्रजापत नगर शामिल हैं।