भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मुख्यमंत्री निवास पर वंदेमातरम् गीत के रचयिता श्री बंकिमचंद्र चटर्जी की पुण्यतिथि पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बंकिम चन्द्र चटर्जी बंगला साहित्य के महान कवि और उपन्यासकार होने के साथ-साथ एक प्रसिद्ध पत्रकार भी थे। उन्होंने न सिर्फ बंगला भाषा में आधुनिक साहित्य की शुरुआत की बल्कि बंगला साहित्य को नई ऊँचाईयों तक पहुँचाने का काम किया। वे अपनी रचना 'वंदे मातरम्' के लिए बहुत प्रसिद्ध हुए। उनके द्वारा लिखा गया यह राष्ट्रगीत आज भी जन-जन में देश प्रेम की भावना विकसित करता है। उनका प्रथम बांगला उपन्यास दुर्गेश नंदिनी था। कपाल कुण्डला सबसे चर्चित उपन्यास रहा। उन्होंने मासिक पत्रिका बंग दर्शन का प्रकाशन भी किया। बंकिम चन्द्र चटर्जी का सबसे चर्चित उपन्यास 'आनंदमठ' 1882 में प्रकाशित हुआ, जिससे प्रसिद्ध गीत 'वंदेमातरम्' लिया गया है।