दमोह विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की हार के बाद शुरू हुई जुबानी जंग

दमोह विधानसभा उपचुनाव में भाजपा को करारी हार मिली है। अब भाजपा प्रत्याशी राहुल सिंह लोधी ने खुले तौर पर हार का ठीका जयंत मलैया परिवार पर फोड़ा है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा- पार्टी को मां कहने वालों ने गद्दारी की है। वे अपना बूथ तक नहीं जिता पाए। पूरा शहर भी हार गए। पूर्व मंत्री जयंत मलैया पलटवार करते हुए कहा कि साजिश के तहत मेरा नाम लिया जा रहा है। दमोह में जनता भाजपा के खिलाफ नहीं, उम्मीदवार के खिलाफ थी। यह चुनाव वह अपने कारणों से हारे हैं। पार्टी पूछेगी, तो मैं जवाब दूंगा। चुनाव परिणामों के बाद अब भाजपा हार के कारणों की समीक्षा करने में जुट गई है।

चुनाव का जिम्मा सौंपा, मगर अपना भी बूथ नहीं जिता पाए

उपचुनाव में हारे भाजपा प्रत्याशी राहुल सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा- मलैया परिवार ही मूलरूप से चुनाव हराने का जिम्मेदार है। शहर में सिद्धार्थ मलैया को चुनाव की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, लेकिन वे खुद का बूथ भी नहीं जिता पाए। हम पूरा शहर हार गए। वे कहते हैं कि पार्टी हमारी मां है। उसके बाद भी गद्दारी कर गए। 33 वर्षों से राजनीति कर रहे हैं, लेकिन बूथ नहीं जिता पाए। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर पार्टी से निष्कासित किया जाना चाहिए। मैं प्रदेशाध्यक्ष और मुख्यमंत्री से कार्रवाई की मांग करता हूं।

मलैया का पलटवार: बोले-मुझे किसी से सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं

राहुल सिंह के आरोपों के बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता जयंत मलैया सामने आए। उन्होंने कहा- चुनाव में कोई जीतता, तो कोई हारता है। हार गए हैं, तो उसे मानना चाहिए। राहुल आज आरोप लगा रहे हैं। सोची समझी साजिश के तहत मेरा नाम लिया है। किसी और का नाम लेने में तकलीफ होती। दमोह की जनता भाजपा के खिलाफ नहीं थी। जनता में प्रत्याशी के खिलाफ विरोध था। यह चुनाव वह अपने कारणों से हारे हैं।

दमोह उपचुनाव नतीजे का विश्लेषण:शहर में दलबदल से गुस्सा था, गांवों में कोरोना के ‘दर्द’ को अनसुना कर देना BJP को ज्यादा भारी पड़ गया

मैं अपनी बात पार्टी के सामने रखूंगा। एक हार वह बर्दाश्त नहीं कर पाए और आरोप लगा दिया। मुझे किसी को स्पष्टीकरण देने और सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है। पार्टी पूछेगी मुझसे मैं जवाब दूंगा। वरना मुझे जो निर्णय लेना होगा, लूंगा।