नासिक. कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट के बीच महाराष्ट्र (Maharashtra) के नासिक में बड़ा हादसा हो गया है. यहां स्थित डॉक्टर जाकिर हुसैन अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक लीक हो गया है. हादसे में 22 मरीजों की मौत हो गई है. वहीं, 12 लोगों की हालत गंभीर है. रिपोर्ट्स में बताया गया है कि टैंकर भरने के दौरान यह रिसाव हुआ है. रिसाव होने की वजह से अस्पताल परिसर में ऑक्सीजन फैल गई थी. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मामले की जांच की मांग की है. राज्य सरकार में मंत्री राजेंद्र शिंगणे ने जांच के आदेश दिए हैं.

एफडीए मंत्री राजेंद्र शिंगणे ने कहा कि हम इसकी जांच करेंगे और आने वाले दिनों में ऐसी घटना न हो इसके लिए काम करेंगे. उन्होंने कहा 'यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. शुरुआती जानकारी से पता चला है कि 11 लोगों की मौत हो गई है. हम एक विस्तृत जांच रिपोर्ट पाने की कोशिश कर रहे हैं. साथ ही हमने जांच के आदेश दे दिए हैं.' मंत्री ने कहा 'जो भी जिम्मेदार होगा उसे छोड़ा नहीं जाएगा.'

टैंक में से हुए रिसाव के चलते पूरे इलाके में ऑक्सीजन फैल गई थी. खबर है कि इस दौरान अस्पताल में 25 मरीजों का इलाज वेंटिलेटर पर जारी था. कई मरीजों का हालत गंभीर बनी हुई है. इसके अलावा 60 से ज्यादा मरीजों को ऑक्सीजन दी जा रही थी. महाराष्ट्र देश का कोरोना वायरस महामारी से सबसे प्रभावित राज्य है.

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा 'नासिक में टैंकर के वाल्व लीकेज के चलते बड़े स्तर पर ऑक्सीजन का रिसाव हुआ है.' उन्होंने कहा 'जिस अस्पताल पर यह जा रही थी, वहां इसका निश्चित असर हुआ होगा, लेकिन मुझे अभी और जानकारी जुटाना बाकी है. हम और जानकारी जुटाने के बाद प्रेस नोट जारी करेंगे.'
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मामले की विस्तृत जांच की मांग की है. उन्होंने कहा 'नासिक में जो हुआ वह भयानक है. ऐसा कहा गया है कि 11 लोगों की मौत हो गई है, जो कि बहुत परेशान करने वाली बात है. मैं मांग करता हूं कि दूसरे मरीजों की मदद की जाए और उन्हें शिफ्ट किया जाए. हम विस्तृत जांच की मांग करते हैं.'


अग्निशमन अधिकारी ने बताया '12.30 बजे कॉल आया था कि ऑक्सीजन टैंक से लीक हो रहा है. हम मौके पर पहुंचे और पाया कि ऑक्सीजन टैंक का वॉल्व खुला हुआ था, जहां से ऑक्सिजन लीक हो रहा था. एक टैंकर से ऑक्सीजन टैंक में ऑक्सीजन भरा जा रहा था.' उन्होंने जानकारी दी 'जो वॉल्व खुला था, उसे हमने बंद कर दिया है, लेकिन काफी ऑक्सीजन लीक हो चुका है.'