Monday, 16 July 2018, 7:49 PM

धर्म कर्म

भगीरथी गंगा या गौतमी गंगा? इस भ्रम को अभी कीजिए दूर

Updated on 24 March, 2015, 14:19
गंगा नदी को पृथ्वी पर लाने के लिए इच्छाकुवंशी राजा भगीरथ ने कठोर तप किया था। उनकी तपस्या से प्रसन्न होकर माता गंगा, भगवान शिव की जटा से निकलकर पृथ्वी पर अंश मात्र अवतरित हुईं। इसीलिए उत्तर भारत में गंगा भगीरथी के नाम से प्रसिद्ध है। लेकिन दक्षिण में गंगा को... आगे पढ़े

26 अप्रैल को खुलने है बदरीनाथ धाम, पर अभी जमी है छह फीट बर्फ

Updated on 24 March, 2015, 12:45
पांडुकेश्वर (चमोली)। उत्तराखंड में मौसम अब भले ही सुहावना हो गया हो, लेकिन हिंदूओं के प्रसिद्ध तीर्थ बदरीनाथ में अभी भी छह फीट बर्फ जमा है। पिछले दिनों हुई भारी बर्फबारी के बावजूद मंदिर समिति के भवन और धर्मशालाएं पूरी तरह सुरक्षित हैं। गौरतलब है कि धाम के कपाट अगले... आगे पढ़े

अर्धकुंभ की सुरक्षा को दस हजार जवान

Updated on 24 March, 2015, 12:42
देहरादून। प्रदेश में वर्ष 2016 में होने वाले अर्धकुंभ के लिए पुलिस ने भी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। अर्धकुंभ में सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस के तकरीबन पांच हजार जवान लगाए जाएंगे। इसके अलावा केंद्र से पैरामिलिट्री की तकरीबन सात कंपनियां ली जाएंगी। रैपिड एक्शन... आगे पढ़े

इस तरह करें मां के पांचवे स्वरूप देवी स्कन्दमाता की पूजा

Updated on 24 March, 2015, 8:54
नवरात्रि की पंचमी तिथि को स्कंदमाता की पूजा की जाती है। स्कंदमाता भक्तों को सुख-शांति प्रदान वाली है। देवासुर संग्राम के सेनापति भगवान स्कंद की माता होने के कारण मां दुर्गा के पांचवे स्वरूप को स्कंदमाता के नाम से जानते हैं। इनकी पूजन विधि इस प्रकार है- सबसे पहले चौकी (बाजोट)... आगे पढ़े

महाशक्ति दुर्गा का चौथा स्वरूप है देवी कूष्माण्डा

Updated on 23 March, 2015, 8:14
महाशक्ति दुर्गा का चौथा स्वरूप है देवी कूष्माण्डा। मान्यता है कि ये देवी अपनी हंसी मात्र से संपूर्ण ब्रह्मांड को उत्पन्न करती हैं। वे सूर्यमंडल के भीतर ही निवास करती हैं। सूर्य के समान दैदीप्यमान कांति वाली देवी के तेज से दसों दिशाएं प्रकाशित होती हैं। इनकी आठ भुजाएं हैं।... आगे पढ़े

इन नियमों के कारण नवरात्र के दौरान विवाह नहीं होता है

Updated on 22 March, 2015, 9:04
पूरे साल में कई नवरात्र होते हैं जिनमें चैत्र नवरात्र और शारदीय नवरात्र का बड़ा ही महत्व है। शास्त्रों और पुराणों में जिस तरह के उल्लेख मिलते हैं उसके अनुसार चैत्र मास का नवरात्र अधिक महत्वपूर्ण है। प्राचीन काल में नवसंवत्सर से आरंभ होने वाला नवरात्र ही अधिक प्रचलित था। लेकिन... आगे पढ़े

पाकिस्तान के कराची में स्थित हिंगलाज शक्तिपीठ की प्रतिरूप हैं देवी

Updated on 22 March, 2015, 8:56
बाड़ी । प्राचीन दर्शनीय स्थल मां हिंगलाज मंदिर में विराजमान माता हिंगलाज की प्रसिद्घी जिले ही नहीं अपितु पूरे भारत वर्ष में है। पाकिस्तान के कराची में स्थित हिंगलाज शक्तिपीठ की प्रतिरूप देवी की प्रतिमा यहां बाड़ी कलां में विराजमान है। सुरम्य पहाड़ियों की तलहटी से घिरे इस शक्ति पीठ... आगे पढ़े

आज नवरात्र के दूसरे दिन इस तरह करे मां ब्रह्माचारिणी की पूजा

Updated on 22 March, 2015, 8:51
नवरात्रि का त्योहार नौ दिनों तक चलता है। इन नौ दिनों में तीन देवियों पार्वती, लक्ष्मी और सरस्वती के नौ स्वरुपों की पूजा की जाती है। पहले तीन दिन पार्वती के तीन स्वरुपों [कुमार, पार्वती और काली], अगले तीन दिन लक्ष्मी माता के स्वरुपों और आखिरी के तीन दिन सरस्वती... आगे पढ़े

इसीलिए है नवरात्रि का पहला दिन मां शैलपुत्री को समर्पित

Updated on 21 March, 2015, 8:46
नवरात्र के पहले दिन मां दुर्गा को शैलपुत्री के रूप में पूजा जाता है। पर्वतों के राजा हिमालय के घर पुत्री रूप में जन्म लेने के कारण मां, का नाम 'शैलपुत्री' पड़ा। नवरात्र-पूजन में प्रथम दिवस इन्हीं की पूजा और उपासना की जाती है। यहां हैं मां शैलपुत्री का मंदिर कहते हैं... आगे पढ़े

पुराणों की संख्या इसीलिए होती है अठारह

Updated on 20 March, 2015, 14:53
एक धारणा के अनुसार सभी मन्वंतरों के प्रत्येक द्वापर में भगवान विष्णु ने ही महर्षि व्यास के रूप में प्रकट होकर जनमानस के कल्याण के लिए इन अठारह पुराणों की रचना की है। कहते हैं इन अठारह पुराणों के पढ़ने या सुनने से मनुष्य पापरहित होकर पुण्य का भागी बन... आगे पढ़े

अमरनाथ श्राइन बोर्ड के नए सीईओ त्रिपाठी बने

Updated on 20 March, 2015, 13:08
जम्मू। श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के चेयरमेन और राज्यपाल एनएन वोहरा ने वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी प्रदीप कुमार त्रिपाठी को बोर्ड का नया चीफ एग्जीक्यूटिव आफिसर (सीईओ) नियुक्त किया है। इससे पूर्व त्रिपाठी राज्यपाल के प्रधान सचिव के पद पर आसीन थे। नियुक्ति के साथ त्रिपाठी ने बुधवार को ही अपना... आगे पढ़े

इस संवत को कीलक के नाम से जाना जाता है...

Updated on 20 March, 2015, 13:06
जम्मू। विक्रमसंवत यानी भारतीय नववर्ष की तैयारी घर-घर में शुरू हो गई है। मंदिरों में नए साल के आगमन पर हवन-यज्ञ होगा तो वहीं घरों में पूजा-अर्चना के उपरांत बड़ों के आशीर्वाद के साथ दिन की शुरुआत होगी। जम्मू में विक्रमसंवत 2072 का शुभारंभ चैत्र शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि यानी... आगे पढ़े

नवसंवत्सर की अगवानी अपने अंदाज में करेगी काशी

Updated on 20 March, 2015, 13:05
वाराणसी। विश्व की सबसे प्राचीन नगरी काशी कीलक नाम नवसंवत्सर 2072 की अगवानी अपने अध्यात्मिक अंदाज में करेगी। अनुष्ठानों के जरिए राष्ट्र और धर्म के प्रति प्रेम का हर हृदय में भाव भरेगी। चैत्र शुक्ल प्रतिपदा तद्नुसार 21 मार्च को नव संवत की पहली सुबह भगवान सूर्य को अघ्र्यदान भी... आगे पढ़े

प्रतिदिन 1500 यात्री ही करेंगे बाबा केदार के दर्शन

Updated on 19 March, 2015, 8:27
रुद्रप्रयाग। केदारनाथ धाम में प्रतिदिन केवल 1500 श्रद्धालुओं को ही जाने की अनुमति दी जाएगी। हालांकि केदारनाथ के पुनर्निर्माण कार्य में जुटे नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) ने केदारनाथ में पांच हजार यात्रियों के प्रतिदिन ठहरने की व्यवस्था का दावा किया, लेकिन प्रशासन श्रद्धालुओं की मौजूदगी व व्यवस्था को लेकर पूरी... आगे पढ़े

टूटी 170 साल की परंपरा

Updated on 17 March, 2015, 12:58
वृंदावन। घनघोर बारिश के कारण यहां स्थित उत्तर भारत में दक्षिण भारतीय शैली के सबसे बड़े रंग जी मंदिर में 170 साल पुरानी परंपरा टूट गई। बारिश ने मंदिर का सबसे बड़ा रथ रोक दिया। दलदल के कारण ये भारी-भरकम और पौराणिक रथ एक कदम भी आगे नहीं बढ़ पाया।... आगे पढ़े

चारधाम यात्रा: अभी भी ठिठक रहे हैं कदम

Updated on 17 March, 2015, 12:57
हरिद्वार। केदारनाथ त्रासदी आए डेढ़ साल से अधिक का समय हो गया है, लेकिन देश-विदेश के लोगों के मन में अभी भी आपदा का खौफ बना हुआ है। अब तक यात्री हरिद्वार के ट्रेवल व होटल व्यवसायियों से यात्रा मार्गों तथा केदारनाथ की स्थिति के बारे में ही जानकारी ले... आगे पढ़े

8 दिन की चैत्र नवरात्र, हर दिन शुभ संयोग

Updated on 16 March, 2015, 7:36
भोपाल । गुड़ी पड़वा 21 मार्च को है और इसी दिन से चैत्र नवरात्रि पर्व की भी शुरूआत होगी। इस बार द्वितीया और तृतीया दो तिथियां एक दिन पड़ने के कारण आठ दिनों की नवरात्रि रहेगी। लेकिन नवमीं को ही व्रत का परायण और जवारे का विसर्जन किया जाएगा। इस बार... आगे पढ़े

विस्तारीकरण में अधिग्रहण का झाम

Updated on 15 March, 2015, 12:52
वाराणसी। डीजी (सुरक्षा) गोपाल गुप्ता ने कहा कि काशी विश्वनाथ मंदिर के विस्तारीकरण में आसपास के जर्जर हो चुके भवन बड़ी बाधा हैं। आपात स्थिति में मंदिर प्रांगण तक न तो फायर ब्रिगेड की गाडिय़ां पहुंच सकती हैं, न ही एंबुलेंस। इन भवनों के अधिग्रहण का झाम फंसा है। कभी एक... आगे पढ़े

20 घंटे ले रही काशी से काठमांडू बस

Updated on 15 March, 2015, 12:51
वाराणसी। बस सेवा के मामले में नेपाल से संबंध प्रगाढ़ करने के बाद रोडवेज के जरिए अब पड़ोसी प्रांत बिहार से भी जुड़ाव की दिशा में कदम बढ़ाए जा रहे हैं। जल्द ही बिहार के लिए भी यूपी रोडवेज की बसें दौड़ेंगी। पहले चरण में सारनाथ से गया के लिए... आगे पढ़े

श्री माता वैष्णो देवी कटड़ा के लिए दो समर स्पेशल ट्रेनें

Updated on 15 March, 2015, 8:57
जालंधर । गर्मियों में यात्रियों की भारी भीड़ के मद्देनजर रेलवे ने श्री माता वैष्णो देवी कटड़ा के लिए दो समर स्पेशल ट्रेनें चलाने की घोषणा की है। दोनों ट्रेनों का संचालन 2 अप्रैल से शुरू होगा और 30 जून तक जारी रहेगा। रेलवे की तरफ से उपलब्ध करवाई गई जानकारी... आगे पढ़े

राजजात टीम कराएगी अर्धकुंभ

Updated on 13 March, 2015, 13:28
हरिद्वार। नंदा देवी राजजात कराने वाली टीम के प्रमुख सदस्य ही हरिद्वार में अर्धकुंभ मेला भी कराएंगे। राजजात में रहे दो अधिकारियों को अर्धकुंभ मेला के लिए हरिद्वार भेजा गया है। अर्धकुंभ मेला जिला बनने के बाद पहली बार अधिकारियों की तैनाती की गई है। दोनों ही अधिकारियों को चमोली... आगे पढ़े

सुबह-ए-बनारस को मिलेगी 'वट वृक्ष की छांव

Updated on 13 March, 2015, 13:26
वाराणसी। जीवन की सांझ में खुद को अकेला व उपेक्षित महसूस कर रहे बुजुर्गो के लिए भी अस्सी घाट नई सुबह बनेगा। इसकी सीढिय़ों पर रोजाना सजने वाला सुबह-ए-बनारस का सुर-साज से पगा आध्यात्मिक आयोजन उनके जीवन में नए रंग भरेगा। उनके अंतर्मन से परावर्तित हो यही रंग नई पीढ़ी... आगे पढ़े

'कृष्ण और 'रुद्र मिलनस्थली पर स्वर्णिम आभा

Updated on 13 March, 2015, 13:25
गोवर्धन। ब्रज के कृष्ण और बनारस के शिव का मिलन हुआ। राधे-राधे की जयकार के साथ महादेव का आह्वान। ऐसा लगा मानो भगवान आशुतोष के स्वागत को गिरिराज ने पसार दी हों बांह। राधे की तान के साथ महादेव के गान ने रुद्रकुंड में भक्तिमय माहौल में शक्ति का अहसास... आगे पढ़े

नाले के पार नहीं रहेगी अब माता की रसोई

Updated on 12 March, 2015, 7:39
ज्वालामुखी। विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्रीज्वालामुखी मंदिर में माता की रसोई अब नाले के पार नहीं रहेगी, बल्कि इसे मोदी भवन के पास बनाया जा रहा है। ताकि माता को लगने वाला भोग शुद्ध अवस्था में मां को अर्पित किया जा सके। मंदिर के पुराने भवनों को गिराकर नए भवन बनाने की... आगे पढ़े

शिव के क्रोध के बाद आज तक गर्म है इस जगह का पानी

Updated on 11 March, 2015, 22:12
आमतौर पर मनाली एक पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। हर साल लाखों की तादाद में देश-दुनिया से लोग यहां घूमने आते हैं। मनाली से जुड़ी कई प्राचीन मान्यताएं भी हैं। इसलिए लोग धार्मिक यात्राओं के लिए भी यहां आते हैं। ऐसी ही एक प्राचीन मान्यता शेषनाग और भगवान... आगे पढ़े

आपको भी लगता है भगवान नहीं हैं, जरा इस सच को जान लीजिए

Updated on 10 March, 2015, 8:54
भगवान हैं या नहीं इस बात को लेकर अक्सर बहुत से लोगों में विवाद होता रहता है। कुछ लोग कण-कण में ईश्वर की मौजूदगी पर विश्वास जताते हैं तो कुछ लोग सब कुछ अपनी मेहनत और कर्मों पर निर्भर बताते हैं। यह अंतहीन बहस है और इस पर सदियों से... आगे पढ़े

इस मंदिर में मृत सैनिक की आत्मा आज भी करती है देश की रक्षा

Updated on 9 March, 2015, 12:55
क्या कोई सैनिक मृत्यु पश्चात भी अपनी ड्यूटी कर सकता है? क्या किसी मृत सैनिक की आत्मा, अपना कर्तव्य निभाते हुए देश की सीमा की रक्षा कर सकती है ? आप सब को यह सवाल अजीब से लग सकते है, आप सब कह सकते है की भला ऐसा कैसे मुमकिन... आगे पढ़े

शिवजी भस्म क्यों रमाते हैं?

Updated on 9 March, 2015, 12:53
हिंदू धर्म में शिवजी की बड़ी महिमा हैं। शिवजी का न आदि है ना ही अंत। शास्त्रों में शिवजी के स्वरूप के संबंध कई महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं। इनका स्वरूप सभी देवी-देवताओं से बिल्कुल भिन्न है। जहां सभी देवी-देवता दिव्य आभूषण और वस्त्रादि धारण करते हैं वहीं शिवजी ऐसा... आगे पढ़े

एक हाथ से बनाया था शिवमंदिर, लेकिन नहीं होती यहां पूजा

Updated on 9 March, 2015, 8:46
उत्तराखण्ड के पिथोरागढ जिले की तहसील डीडीहाट में है भगवान शिव का ऐसा मंदिर जहां पूजा- अर्चना पूरी तरह वर्जित है। भगवान भोलेनाथ के इस मंदिर का नाम है 'एक-हथिया देवाल'। उत्तर भारत का यह अनूठा मंदिर माना जाता है। इस मंदिर का उल्लेख स्कंद पुराण में भी मिलता है। इतिहासकार... आगे पढ़े

केदारनाथ में पहली बार खेली गई होली

Updated on 8 March, 2015, 8:36
रुद्रप्रयाग । बाबा केदार के दर पर पहली बार होली खेली गई। केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्यों में जुटे नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) के कर्मचारियों व श्रमिकों ने शुक्रवार को जमकर अबीर-गुलाल उड़ाया। दरअसल केदारनाथ के कपाट इन दिनों बंद रहते हैं और भारी बर्फबारी के कारण वहां लोगों की मौजूदगी भी... आगे पढ़े